अख़बार की इन ‘Headlines’ को पढ़कर आपका दिमाग न घूम जाए तो कहिएगा !

एक खबर का सार उसकी हैडलाइन ही होती है. कई दफ़ा हमारे सामने ऐसी हैडलाइन आ जाती है जिसे पढ़कर पाठकों की आँखे फटी की फटी रह जाती हैं. ज्यादातर हैडलाइन इस तरह से लिखी जाती है कि उससे उस खबर या सूचना के बारे में पता चलता है लेकिन आज हम आपको जो दिखाने वाले है उसे सुनकर अगर आप हंस-हंसकर पागल न हो जाए तो कहिएगा.

आज आपको ऐहसास होगा कि अख़बारों में लिखी गयी हैडलाइन्स वाकई ध्यान देकर पढ़ने की ज़रूरत है, क्योंकि इनमें भी कई बार इतनी कॉमेडी होती है, जो शायद आपको किसी बड़ी कॉमेडी फ़िल्मों की स्क्रिप्ट में न मिले. यूँ तो हर अख़बार का काम लोगों तक ख़बर पहुंचाना ही होता है जो बेहद गंभीर काम होता है जिसका ज़िम्मा पत्रकार या एडिटर को दिया जाता है लेकिन कई बार खबर वाली घटनाएं इतनी मज़ेदार या फिर यूँ कहें कि दुर्भाग्यपूर्ण होती हैं कि पत्रकार भी खुद को आभावों में बहने से नहीं रोक पाते हैं. जिसके चलते पत्रकार अनजाने में ऐसी-ऐसी हैडलाइंस लिख देते हैं, जिसे पढ़कर पाठक का भी सिर घूम जाता है.

चलिए आपको पढ़वाते हैं अख़बार और टीवी में छपी कुछ ऐसी ज़बरदस्त हैडलाइन्स जिन्हें पढ़ने भर से ही आप हैरान रह जाएंगे:

1. इसको वाकई सर्दी ज्यादा लगती होगी!

2. बाघ इन ज़नाब को सब बताता है!

3. वाकई प्यार इतना अंधा होता है ये नहीं सोचा होगा !

4. आज तो ये गया..!

5. ये जरुर कुछ और लिखना चाहते होंगे !

6. जान बची तो लाखो पाए..!

7. आगे से मोमोज खाने से पहले ये जरुर याद रखना!

8. भाई इसमें इसकी क्या गलती थी भला

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*